‘PM को गाली देने के लिए बुलाया गया सेशन’


आम आदमी पार्टी सरकार ने महिला सुरक्षा के मुद्दे पर चर्चा के लिए सोमवार को विधानसभा का सत्र बुलाया था। इसका विरोध विपक्ष के साथ-साथ उनके अपने विधायक ने भी किया। तिमारपुर से पार्टी के विधायक पंकज पुष्कर ने खुलकर इस सत्र का विरोध करते हुए कहा कि इससे कुछ ठोस निकल कर नहीं आने वाला है। यह सिर्फ समय और जनता के पैसे की बर्बादी है। केवल पुलिस कमिश्नर और प्रधानमंत्री को गाली देने के लिए यह सत्र बुलाया गया है।

पंकज पुष्कर ने कहा कि आज के सत्र में महिलाओं की सुरक्षा के प्रति सरकार की निष्ठा कम और राजनीतिक मंशा ज्यादा नजर आती है। सरकार में नकारात्मक विचारों को सुनने का धैर्य नहीं है और एक तरह के फ्लोर मैनेजमेंट की प्रवृत्ति विधानसभा में पैदा हो गई है।

उन्होंने बताया कि वह नियमित की गई अनधिकृत कॉलोनियों के अलावा अन्य कॉलोनियों में विकास कार्यों से जुड़े प्रश्न नियम 280 के तहत पूछना चाहते थे, लेकिन उन्हें इसकी इजाजत ही नहीं दी गई।इसी तरह बिजवासन के विधायक कर्नल देवेंद्र सिंह सहरावत भी अपनी बात न सुने जाने से नाराज नजर आए। वह सदन में वन रैंक वन पेंशन का मुद्दा उठाना चाहते थे, लेकिन उन्हें भी बोलने नहीं दिया गया। पंकज पुष्कर तो इतने नाराज हुए कि टी ब्रेक के बाद वह विधानसभा से ही चले गए। उन्होंने और कर्नल सहरावत ने न तो चर्चा में हिस्सा लिया और न ही प्रस्ताव पर वोटिंग में रुचि दिखाई।


Related posts

Leave a Comment