fbpx
late sleep at night

देर रात तक नींद न आने से हैं परेशान, इन तरीकों को जरुर अपनाएं!

नींद न आने की बड़ी वजह है,मोबाइल का हद से ज्यादा इस्तेमाल करना। कुछ तो अपना ऑनलाइन काम करते हैं और कुछ सोशल मीडिया पर स्क्रॉल कर टाइम पास।कुछ लोगों की मजबूरी होती है तो कुछ को शौक। युवा मोबाइल चलाने में घंटों समय बिताकर देर रात तक जागते हैं।

इसका सीधा असर आपके स्वास्थ्य पर पड़ता है। समय पर नींद न लेने से आपको कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यदि, पर्याप्त नींद न ली जाए तो इससे दिमाग थकने लगता है और इसका असर आपके कार्य क्षमता पर पड़ता है। इससे भविष्य में कई तरह के रोग होने की संभावना बढ़ जाती है।

निम्नलिखित उपायों को आजमाएं:

  1. नियमित नींद की अभ्यास करें: हर रात एक निश्चित समय पर सोने और उठने का नियम बनाएं। इससे आपके शरीर की आंतरिक बायोलॉजिकल क्लॉक सेट होगी और नींद आने में मदद मिलेगी।
  2. रात को ध्यान करें: सोने से पहले कुछ समय ध्यान या मेडिटेशन करें। इससे आपके दिमाग की चिंताएं कम होंगी और आपको नींद आने में मदद मिलेगी।
  3. रात को रिलेक्स करने के लिए गर्म दूध पिएं: गर्म दूध में धूप बनाने वाली एक मसाला डालकर पिएं। यह आपको शांति और आराम प्रदान करेगा और नींद आने में मदद करेगा।
  4. रात को अल्कोहल और कैफीन से बचें: अल्कोहल और कैफीन नींद को प्रभावित कर सकते हैं और आपको रात में जाग्रत रख सकते हैं। इसलिए रात को इन दोनों का सेवन कम करें या पूरी तरह से बंद करें।
  5. नींद के लिए आपके बेडरूम को शांतिपूर्ण बनाएं: ध्यान दें कि आपके बेडरूम में आरामदायक और शांतिपूर्ण माहौल हो। आप धीरे-धीरे चमकीली लाइट, सुरम्य ध्वनि और आरामदायक बिस्तर के साथ अपने बेडरूम को सजा सकते हैं।
  6. योग और व्यायाम का प्रयास करें: योग और व्यायाम स्वस्थ नींद के लिए मददगार हो सकते हैं। इससे आपके शरीर के अंगों में ऊर्जा का स्तर बढ़ता है और आपको नींद आने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें: लैपटॉप पर काम करते समय, आंखों की ऐसे करें देखभाल!

देर रात तक नींद न आने से हैं परेशान, इन तरीकों को जरुर अपनाएं! 1

आयुर्वेदिक तरीके से ऐसे पाएं निजात:

नींद न आने पर कई जड़ी बूटियां लाभदायक हो सकती हैं। यहां कुछ जड़ी बूटियां दी गई हैं जो नींद को लाने में मदद कर सकती हैं:

  1. अश्वगंधा (Ashwagandha): अश्वगंधा एक प्राकृतिक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जो तनाव को कम करने और नींद को बढ़ाने में मदद कर सकती है।
  2. जटामांसी (Jatamansi): जटामांसी एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जो तनाव को कम करने और नींद को बढ़ाने में मदद कर सकती है।
  3. ब्राह्मी (Brahmi): ब्राह्मी एक प्राकृतिक जड़ी बूटी है जो मस्तिष्क को शांत करने और नींद को बढ़ाने में मदद कर सकती है।
  4. चमोमाइल (Chamomile): चमोमाइल जड़ी बूटी एक प्राकृतिक नींद आने वाली जड़ी बूटी है जो तनाव को कम करने और नींद को बढ़ाने में मदद कर सकती है।
  5. लावेंडर (Lavender): लावेंडर आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जो रात को शांति और नींद को बढ़ाने में मदद कर सकती है।

यह भी पढ़ें: माइग्रेन से छुटकारा पाने के लिए वरदान है, ये आयुर्वेदिक नुस्खे

इन जड़ी बूटी का उपयोग कैसे करें:

  1. अश्वगंधा (Ashwagandha): अश्वगंधा को चूर्ण या कैप्सूल के रूप में लेना सर्वाधिक प्रभावी होता है। आप इसे गर्म दूध के साथ ले सकते हैं, रात को सोने से पहले।
  2. जटामांसी (Jatamansi): जटामांसी को चूर्ण के रूप में लेना सर्वाधिक प्रभावी होता है। आप इसे गर्म पानी में मिलाकर पी सकते हैं, रात को सोने से पहले।
  3. ब्राह्मी (Brahmi): ब्राह्मी को चूर्ण या कैप्सूल के रूप में लेना सर्वाधिक प्रभावी होता है। आप इसे गर्म दूध के साथ ले सकते हैं, रात को सोने से पहले।
  4. चमोमाइल (Chamomile): चमोमाइल को चाय के रूप में लेना सर्वाधिक प्रभावी होता है। आप इसे गर्म पानी में डालकर उबाल सकते हैं और इसे रात को सोने से पहले पी सकते हैं।
  5. लावेंडर (Lavender): लावेंडर का तेल या ड्राइ लावेंडर को आप अपने तकिये पर या अपने शावर या नहाने के पानी में डालकर इसका उपयोग कर सकते हैं। इसे रात को सोने से पहले इस्तेमाल करें।

यदि आपको इन जड़ी बूटियों का सेवन करने से पहले किसी विशेष रोग या दवा के संबंध में सलाह चाहिए, तो आपको डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

बुद्ध पूर्णिमा के दिन बन रहे हैं योग, कर लें ये उपाय ! इन गर्मियों में ऐसे आप अपने garden को रख सकते हैं हरा भरा, इन किचन के चीजों से, जानिए कैसे घुमने से पहले इन ट्रेवल ट्रिप्स को फॉलो जरुर करें! क्या आप भी तो नहीं दही के साथ खाते हो ये सब, तो आप अपने जीवन से कर रहे हो खिलवाड़ ! कुछ देर बैठे जमीन पर, रहेंगे फिट ,यकिन न हो तो आजमाकर देखें ! गर्मियों में दे ठंडक का एहसास, इन जगह का करें इस बार विजिट! लू लगने के लक्षण और इससे बचाव!