fbpx
how to get rid of anxiety

डिप्रेशन से हैं परेशान, ये उपाय दिलाएंगे आराम।

आज के समय में डिप्रेशन एक आम समस्या हो गई है, इससे गुजरने वाला इंसान को ही पता होता है कि उसके अन्दर कितना अकेलापन है। डिप्रेशन, इंसान को अन्दर से तोड़ कर रख देता है उसकी जिंदगी में न कोई खुशी, न ही उम्मीद होती है।

तनाव अधिक और अनियंत्रित हो जाता है तो यह हमारे मस्तिष्क और शरीर पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। डिप्रेशन उस व्यक्ति को होता है जो हमेशा तनाव में रहता है। ऐसे व्यक्ति जिस चीज के प्रति डरता है या जिस स्थिति पर उसका नियंत्रण नहीं रहता वह तनाव महसूस करने लगता है, जिस कारण उसके ऊपर एक दबाव बनने लगता है।

डिप्रेशन क्यों होता है: 

जीवन में कोई बड़ा परिवर्तन आना जैसे कोई दुर्घटना,किसी पारिवारिक सदस्य या अपने प्रियजन को खो देना, जीवन में कोई बड़ा परिवर्तन या संघर्ष, आर्थिक समस्या होना या ऐसे ही किन्हीं गम्भीर बदलावों के कारण।

how to get rid of depression

डिप्रेशन से क्या पड़ता है दुष्प्रभाव:

डिप्रेशन से जुड़ी सबसे गम्भीर बीमारी साइकोटिक डिप्रेशन होता है। इस अवस्था में साइकोटिक डिप्रेशन में लोगों को खुद ही ऐसी आवाजें सुनाई देती है कि वह किसी काम के नहीं है या असफल हैं। रोगी को ऐसा लगता है कि वह खुद अपने विचारों को सुन सकता है।

यह भी पढ़ें: दिमाग तेज करने से लेकर घुटनों के दर्द तक, अखरोट के हैं अनोखे फायदे !

वह हमेशा अपने बारे में नकारात्मक विचार सुनता रहता है और वह व्यक्ति वैसे ही कार्य करने लगता है, वह बहुत जल्दी व्याकुल हो जाता है।उसे लगातार ऐसी चीजें सुनाई और दिखाई देती है जो असल में नहीं होती। इन रोगियों को कभी अकेला नही छोड़ना चाहिए, क्योंकि ऐसे रोगी को आत्महत्या करना सबसे आसान लगता है।

depression

डिप्रेशन से ये उपाय आपको निकलने में करेंगे मदद:

  • जब भी आप खुद को अकेला महसूस करें, टीवी या मोबाइल पर कुछ फनी देखना शुरू कर दें। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि जिंदगी कितनी बेरंग है। लेकिन कुछ चीजें हमेशा ही फनी रहती हैं।
  •  खान-पान के साथ अच्छी जीवनशैली का भी पालन करना चाहिए जैसे व्यक्ति को अपने परिवार और दोस्तों के साथ अधिक बिताना चाहिए। अपने किसी खास दोस्त से मन की बातों को कहना चाहिए।
  • डिप्रेशन से निकलने के लिए व्यक्ति को अपनी दिनचर्या में व्यायाम, योग एवं ध्यान को अवश्य जगह देनी चाहिए। यह अवसाद के रोगी के मस्तिष्क को शान्त करते हैं तथा उनमें हार्मोनल असंतुलन को ठीक करते हैं।
  • व्यक्ति को सुबह उठकर सैर पर जाना चाहिए। रोगी को ध्यान या मेडिटेशन करना चाहिए।
  • यदि किसी व्यक्ति को कोई दुर्घटना या किसी खास कारण की वजह से डिप्रेशन हुआ है तो उसे ऐसे कारणों और जगह से दूर रखना चाहिए।
  • ऐसे व्यक्ति को प्राकृतिक एवं शान्ति प्रदान करने वाली जगहों पर जाना चाहिए साथ ही मधुर संगीत एवं सकारात्मक विचारों से युक्त किताबें पढ़नी चाहिए।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

नए साल 2024 में, जाग उठेगा सोया हुआ भाग्य, राशिनुसार करें ये उपाय! “बॉलीवुड के गहरे राज़: माफिया से रहस्यमय मोहब्बत में पड़ बर्बाद हुई टॉप बॉलीवुड एक्ट्रेस, कुछ नाम आपको चौंका देंगे!” सर्दियों में खाने के लिए 10 ऐसे पत्तों की औषधि, जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद हैं। इन सर्दियों में ऐसे रहें फिट, खाएं ये पौष्टिक आहार ! कर्ज से चाहिए छुटकारा, शुक्रवार के दिन कर लें काम! इन तरीकों से खुद को रखें तंदरुस्त I वास्तु शास्त्र के अनुसार करें इन गलतियों को सही, घर में होगा माँ लक्ष्मी का प्रवेशI