fbpx
anxiety

क्या है एंग्जाइटी डिसआर्डर, लक्षण और होने वाले विकार!

एंग्जाइटी डिसआर्डर एक मानसिक स्वास्थ्य समस्या है जिसमें व्यक्ति को अत्यधिक चिंता और घबराहट का अनुभव होता है। चिंता या घबराहट, जो किसी बात या काम को लेकर अधिक सोचने से उत्पन्न होता है। यह एक अन्य मानसिक स्वास्थ्य समस्या, जैसे डिप्रेशन और ओसीडी के साथ संबंधित हो सकता है।

रोजमर्रा की लाइफ में तनाव, टेंशन, अवसाद, चिंता जैसे शब्द आम हो गए हैं क्योंकि आजकल हर कोई खुद को इन समस्याओं से घिरा हुआ पाता है। जिंदगी आसान किस्तों मे आजकल कहां चलती है। खासकर बड़े बड़े शहरों में तो लोगों का बुरा हाल है। लोग दिन-रात काम के साथ-साथ कई तरह की मानसिक लड़ाईयां अपने भीतर ही भीतर लड़ रहे होते हैं।

एंग्जाइटी डिसआर्डर के लक्षणों में शामिल:

  • अत्यधिक चिंता और घबराहट का अनुभव करना।
  • नींद की कमी।
  • शारीरिक लक्षण, जैसे दिल की धड़कन तेज होना, सांस लेने में कठिनाई या घुटनों की कमजोरी।
  • सामान्य चिंता डिसआर्डर: इसमें व्यक्ति को लगातार और अचानक चिंता होती है जो उनके दैनिक जीवन को प्रभावित करती है।
  • सामाजिक चिंता डिसआर्डर: इसमें व्यक्ति को सामाजिक स्थितियों में घबराहट और चिंता होती है, जिसके कारण वे सामाजिक संबंधों से बचने की कोशिश करते हैं।
  • अग्रसर चिंता डिसआर्डर: इसमें अचानक और अत्यधिक भय या घबराहट का अनुभव होता है, जिसके कारण शारीरिक लक्षण जैसे कि दिल की धड़कन तेज होना, सांस फूलना और छाती में दर्द होता है।
  • अवसाद और चिंता: इसमें व्यक्ति को चिंता के साथ अवसाद की भी अनुभूति होती है, जिसके कारण वे उदास और निराश हो सकते हैं।
  • इस समस्या का संभावित कारण जीवन में तनाव, जीवन में बदलाव, रोग या दवा के संबंध में चिंता, या आनुवंशिक कारक हो सकते हैं। इसे चिकित्सा द्वारा निदान और उपचार किया जा सकता है, जिसमें दवाओं का उपयोग, मनोचिकित्सा और संश्लेषण शामिल हो सकता है।

यह भी पढ़ें: डिप्रेशन से हैं परेशान, ये उपाय दिलाएंगे आराम।

क्या है एंग्जाइटी डिसआर्डर, लक्षण और होने वाले विकार! 1

उपचार और निदान कैसे करें:

एंग्जाइटी डिसआर्डर का उपचार और निदान करने के लिए निम्नलिखित कदम लिए जा सकते हैं:

  • निदान: एंग्जाइटी डिसआर्डर का निदान एक मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ द्वारा किया जाता है। विशेषज्ञ आपके मानसिक स्वास्थ्य का विश्लेषण करेंगे और आपके लक्षणों को जांचेंगे। वे आपसे अपनी चिकित्सा और निदान के लिए आवश्यक जानकारी प्राप्त करेंगे।
  • चिकित्सा: एंग्जाइटी डिसआर्डर के उपचार के लिए कई विभिन्न चिकित्सा तकनीकें उपयोगी हो सकती हैं। चिकित्सा विशेषज्ञ आपके लक्षणों और रोग की गंभीरता के आधार पर एंटीडिप्रेसेंट दवाओं, चिकित्सा और प्राकृतिक चिकित्सा तकनीकों की सलाह दे सकते हैं।
  • प्राकृतिक चिकित्सा: ध्यान, योग, अवकाश, शारीरिक गतिविधियां और आहार जैसी प्राकृतिक चिकित्सा तकनीकें एंग्जाइटी डिसआर्डर के उपचार में मददगार साबित हो सकती हैं। योग और मेडिटेशन आपको स्थिरता और शांति प्रदान कर सकते हैं, जबकि ध्यान और शरीर की जागरूकता आपके मानसिक स्वास्थ्य को सुधार सकते हैं।
  • स्वास्थ्यी जीवनशैली: एंग्जाइटी डिसआर्डर के उपचार का हिस्सा एक स्वस्थ और स्वस्थ जीवनशैली होनी चाहिए। नियमित व्यायाम, पर्याप्त नींद, स्वस्थ आहार और तंबाकू और अल्कोहल का सेवन कम करने जैसी स्वस्थ आदतें आपके मानसिक स्वास्थ्य को सुधार सकती हैं।
  • सामाजिक समर्थन: अपने परिवार और मित्रों के साथ खुश और स्थिर संबंध बनाना एंग्जाइटी डिसआर्डर के उपचार में मददगार हो सकता है। अपने अनुभवों और चिंताओं को अपने प्रियजनों के साथ साझा करना और समर्थन प्राप्त करना मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने में मदद कर सकता है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

नए साल 2024 में, जाग उठेगा सोया हुआ भाग्य, राशिनुसार करें ये उपाय! “बॉलीवुड के गहरे राज़: माफिया से रहस्यमय मोहब्बत में पड़ बर्बाद हुई टॉप बॉलीवुड एक्ट्रेस, कुछ नाम आपको चौंका देंगे!” सर्दियों में खाने के लिए 10 ऐसे पत्तों की औषधि, जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद हैं। इन सर्दियों में ऐसे रहें फिट, खाएं ये पौष्टिक आहार ! कर्ज से चाहिए छुटकारा, शुक्रवार के दिन कर लें काम! इन तरीकों से खुद को रखें तंदरुस्त I वास्तु शास्त्र के अनुसार करें इन गलतियों को सही, घर में होगा माँ लक्ष्मी का प्रवेशI