गर्मी में न करें इन लक्षणों को नज़रंदाज , इससे हो सकती है गंभीर समस्या…


गर्मियों में हृदय रोगियों को धूप में अधिक समय तक रहने और अधिक श्रम करने से बचना चाहिए। इस मौसम में अधिक शारीरिक गतिविधियां स्वस्थ लोगों में भी थकावट या हीट स्ट्रोक (लू) के लक्षण पैदा कर सकती हैं। इन दिनों युवा वर्ग भी प्रतिस्पर्धा के मौजूदा दौर में अपने कॅरियर को बनाने के मानसिक दबाव में हाई ब्लड प्रेशर से ग्रस्त हो रहा है। हाई ब्लड प्रेशर अनियंत्रित होने पर हृदय संबंधी अनेक समस्याएं पैदा करता है।

Summer season

शोले बरसाने वाली गर्म हवाएं और झुलसाने वाली तपतपाती धूप के कारण गर्मियों में लोग ज्यादा बीमार पड़ते हैं। तेज धूप का असर जब स्वस्थ आदमी को बीमार बना सकता है तब सोचिए कि ये दिल के मरीजों के लिए कितना खतरनाक हो सकता है।

यह भी पढ़ें: अच्छे स्वास्थ्य के लिए क्यूँ हैं ये पोषक तत्व जरुरी !

तेज गर्मी के मौसम में दिल के मरीजों के लिए खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। इसलिए ऐसे लोगों को इस मौसम में विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। आइए जानते हैं मौजूदा मौसम में दिल को कैसे रखा जाए दुरुस्त।

दही और फल:

दही और फलों के मिश्रण से पेट भी भरता है और यह स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है, इससे दिल को भरपूर ऊर्जा मिलती है। इसमें लो फैट होता है और भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट भी होता है।

सूप:

सूप सबसे अच्छे स्नैक्स होते है जो पेट को अच्‍छी तरह से भर देते है और स्वास्थ्यवर्धक भी होते है। सूप, कई प्रकार की सब्जियों और दालों से बनता है। पालक और टमाटर का सूप सबसे लाभदायक होता है, इसमें भरपूर मात्रा में पोषक तत्‍व और एंटी – ऑक्सीडेंट तत्‍व होते है। सब्जियों वाला सूप सबसे ज्यादा लाभकारी होता है। आप ब्रेकफास्‍ट या डिनर में सूप का सेवन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: क्या आप जानते हैं-गर्मियों का ये खास फल, इस गंभीर बीमारी से कैसे बचाता है!

हानिकारक है बढ़ता तापमान:

बाहर का बढ़ता तापमान हमारे दिल पर बहुत प्रभाव डालता है। शरीर को ठंडा करने के लिए पसीने की जरूरत होती है। इस कारण हमारा शरीर स्वत: ठंडा हो जाता है, लेकिन अगर किसी कारणवश शरीर खुद को ठंडा नहीं कर पाता है, तब हमारे दिल को रक्त को पंप करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है।

हृदय रोग विशेषज्ञों का कहना है कि मौसम के तापमान में बढ़ रही गर्मी के कारण पिछले चंद सालों से दिल से जुड़ी बीमारियां- खास तौर पर हार्ट अटैक के मामले बढ़ रहे हैं।


Related posts

Leave a Comment