एक घंटे पीछा कर पुलिस ने काटा मनीष सिसोदिया का चालान


दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया एक नए विवाद में फंस गए हैं। गुरुवार की शाम ट्रैफिक पुलिस लगभग एक घंटे तक उनकी कार का पीछा करती रही।

अंत में शाम छह बजे के करीब भीड़ ने उनकी कार को घेर लिया जिसके बाद उनकी गाड़ी का चालान कर दिया गया।

ट्रैफिक पुलिस ने मनीष सिसोदिया की कार को ओवर स्पीड के चलते खजूरी चौक पर रुकने का इशारा किया लेकिन, उनकी गाड़ी नहीं रुकी।

कार उनका ड्राइवर चला रहा था जबकि मनीष सिसोदिया पीछे की सीट पर बैठे थे। जबकि इसी दौरान पुलिस ने अन्य लोगों को ओवर स्पीड के कारण न सिर्फ रोक रखा था बल्कि कई गाड़ियों के चालान भी काटे जा चुके थे।

गाड़ी ने रोकने पर भड़के लोग

 

manish sisodia

जिन लोगों को ओवर स्पीड के कारण रोका गया था वह भड़क गए और पुलिस से मांग की कि मनीष सिसोदिया की गाड़ी को भी रोका जाए और उनका चालान किया जाए।

हालांकि इस दौरान ट्रैफिक पुलिस ने मनीष सिसोदिया की गाड़ी का पीछा करना शुरु कर दिया। लगभग एक घंटा पीछा करने के बाद उनकी गाड़ी को रोका जा सका।

इस दौरान पुलिस ने कई बार उन्हें रुकने का इशारा किया था। गाड़ी रोकने के बाद मनीष के ड्रावइर ने पुलिस से बदसलूकी करना शुरु कर दिया। बहस के बावजूद पुलिस ने मनीष की गाड़ी का चालान कर दिया।

पहले भी कर चुके हैं ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन

manish sisodia

पुलिस ने शाम पांच बजे के करीब मनीष की गाड़ी को रोका जबकि उनका चालान शाम करीब छह बजे काटा जा सका। पीछा करने वाले ट्रैफिक कांस्टेबल सचिन का कहना है कि पीछा करते हुए उसने तीन बार मनीष सिसोदिया की गाड़ी को रुकने का इशारा किया लेकिन गाड़ी नहीं रुकी।

गाड़ी रुकने के बाद भीड़ ने मनीष की गाड़ी को घेर लिया। पुलिस ने मनीष सिसोदिया की गाड़ी को ओवर स्पीड में चलाने पर 400 रुपये का चालान काटा। पुलिस के मुताबिक कार का चालान नंबर 3232-02290-1 है जबकि, ड्राइविंग लाइसेंस का नंबर DL 10 CA 0017 है।

ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन के चक्कर में मनीष सिसोदिया पहली बार नहीं फंसे हैं। इससे पहले भी पिछले साल 15 अगस्त को अपने साथियों के साथ बाइक पर मनीष सिसोदिया तिरंगा लेकर घूमते हुए दिखे थे। इस दौरान भी उन्होंने हेलमेट नहीं पहन रखा था।


Related posts

Leave a Comment