नमो ऐप के जरिए उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को किया संबोधित……..

pm-namo-app

गरीब महिलाओं को दिलाया उनका हक :

पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार को नमो ऐप के जरिए उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि देशवासियों को हक दिलाना हमारा लक्ष्य है, हमने गरीब महिलाओं को उनका हक दिया है। साथ ही हमने इस योजना में दलितों और शोषितों को प्राथमिकता दी है।

उन्होंने कहा कि ज 100 में से 81 घरों में एलपीजी कनेक्शन है। हमने लाभार्थियों के लिए एलपीजी पंचायत शुरू की। गांवों में एक लाख एलपीजी पंचायत बनाने का लक्ष्य है। पहले बड़े-बड़े लोगों को एलपीजी कनेक्शन मिलते थे।

ये भी पढ़ें : 5 साल तक बिजली मुफ़्त देगी मोदी सरकार, किसे और कैसे? जानिए आज प्रारम्भ हुई “सौभाग्य योजना” को

पीएम मोदी ने कहा, 2014 तक 13 करोड़ परिवारों को एलपीजी कनेक्शन मिला। इसका मतलब ये है कि पिछले 60 सालों में ये आंकड़ा 13 करोड़ पर ही अटका रहा। ज्यादातर अमीर लोगों को ही एलपीजी कनेक्शन मिलते थे। लेकिन पिछले चार सालों में 10 करोड़ नए कनेक्शन दिए गए हैं और इससे गरीबों को लाभ पहुंचा है।

LPG-connection

 

देश के विकास के लिए ऐसा मंत्र हमारे लिए महिलाएं प्रथम:

पीएम मोदी ने हर क्षेत्र में आगे आ रही महिलाओं की सराहना की। उन्होंने कहा, ‘आज हम महिला नेतृत्व के तहत विकास के बारे में बात कर रहे हैं। आर्गेनाइजेशन हो या सरकार, हमारे लिए महिलाएं प्रथम हैं।  जब देश के विकास के लिए ऐसा मंत्र है, तो भाजपा भी इसी मंत्र में विश्वास करती है।

ये भी पढ़ें :   भारतीय प्रथम महिला जासूस ने किये 75,000 केस सॉल्व, 57 अवॉर्ड से हो चुकी हैं सम्मानित !

हमारी कैबिनेट में महिलाओं को क्षमता के अनुसार उन्हें पोर्टफोलियो दिया गया है। साथ ही पीएम ने कहा, ‘हर क्षेत्र में महिलाओं का अमूल्य योगदान है चाहे ओलंपिक्स हो या कॉमनवेल्थ गेम्स हो, अब आर्मी में भी महिलाएं शामिल हो रहीं हैं जो उनकी प्रगति को दर्शाता हैं।

girls in army

ये है महिलाओं के लिए योजनाएं :

पीएम मोदी ने कहा कि हमने मेटरनिटी लीव 26 वीक कर दिया है। साथ ही बच्चों के लिए क्रेच की सुविधा शुरू करवाई। सुकन्या योजना के तहत 19 हजार करोड़ रुपये जमा हुए हैं। कर्नाटक में भी दस लाख से अधिक खाते खुले हैं।

कर्नाटक में चार लाख हेल्थ चेकअप सफलता पूर्वक हुए हैं। सिर्फ कर्नाटक में बच्चों और महिलाओं को टीकामुक्त किया गया। देश के करोड़ों महिलाओं को एलपीजी गैस कनेक्शन दिए गए हैं। कर्नाटक में करीब नौ लाख गरीब परिवारों में मुफ्त गैस चूल्हा पहुंच चुका है।


Related posts

Leave a Comment