भारत यात्रा ज्यादातर पश्चिमी देशों के लोगों के लिए एक रहस्य :

भारत एक महान आध्यात्मिक विरासत वाली धरती है और ज्यादातर पश्चिमी देशों के लोगों के लिए एक रहस्य है। इस देश के बारे में दूसरे महाद्वीपों में चाहे कितने ही मिथक और गलत अवधारणाएं क्यों ना हों, पर फिर भी लाखों सैलानी हर साल भारत आते हैं।

भारत यात्रा आपके लिए एक अभूतपूर्व और आकर्षक अनुभव हो सकता है बशर्ते आपने अच्छी जानकारी बटोरी हो और ठीक से यात्रा की योजना बनाई हो। अपनी यात्रा को मजेदार और सुरक्षित बनाने के लिए यह जरुरी है कि आपने लागत का हिसाब लगाने से लेकर रहने तक की व्यवस्था का इंतजाम कर लिया हो।

भारत यात्रा का सबसे अच्छा समय : 

विदेशी सैलानियों के लिए भारत यात्रा का सबसे अच्छा समय सर्दियों के महीने हैं। नवंबर से मार्च महीनों के दौरान सबसे ज्यादा सैलानियों का दौरा होता है, जिनमें यूरोप और अमेरिका के सबसे ज्यादा होते हैं। इन महीनों में ना सिर्फ मौसम सुहावना होता है बल्कि उमस और गंदगी भी कम होती है।

ये भी पढ़ें : कैलाश मानसरोवर यात्रा 2018: आवेदक 23 मार्च तक करवा सकते हैं पंजीकरण !

यदि आप रेगिस्तान के क्षेत्र या उत्तरी राज्यों की यात्रा की योजना बना रहे हों तो सर्दियां एक बेहतर विकल्प है। हालांकि वे लोग जो ट्राॅपिकल मौसम वाले देशों की यात्रा कर चुके हों या फिर यहां की गर्मी और उमस का सामना कर सकते हों, वो मानसून में भी अपनी यात्रा की योजना बना सकते हैं। देश के कुछ राज्य जैसे केरल, गोवा और असम मानसून के महीनों में बहुत खूबसूरत रुप ले लेते हैं।

भारत कैसे पहुंचें : 

कई अंतर्राष्ट्रीय एयरलाइंस, प्रमुख भारतीय हवाई अड्डों के लिए रोजाना उड़ान भरती हैं। सबसे लोकप्रिय वाहकों में ब्रिटिश एयरवेज़, एयर एशिया, सिंगापुर एयरलाइंस, लुफ्थांसा, अमीरात आदि शामिल हैं। हालांकि आप एयर इंडिया की तरह भारतीय एयरलाईन का विकल्प भी चुन सकते हैं।

अधिकांश विदेशी सैलानी दिल्ली और मुंबई जैसे महानगरों के हवाई अड्डों का इस्तेमाल करते हैं। इन हवाई अड्डों में सभी आधुनिक सुविधाएं हैं और इस तरह ये शहर भारत की यात्रा शुरु करने के लिए आदर्श स्थान हो सकते हैं। आपके देश और आपके पसंदीदा हवाई अड्डे के आधार पर आप कुछ भारतीय हवाई अड्डों के लिए सीधी अंतर्महाद्वीपीय उड़ानें भी प्राप्त कर सकते हैं। कई ट्रेवल एजेंसियां हवाई अड्डे से पिकअप और रहने की व्यवस्था में मदद जैसी सुविधाएं भी देती हैं।

भारत यात्रा में रहने की व्यवस्था का पहले से ही करें इंतजाम :

अपनी भारत यात्रा में रहने की व्यवस्था का पहले से ही इंतजाम करना समझदारी है। सौभाग्य से भारत में हाॅस्पिटेलिटी उद्योग का बहुत विस्तार हो रहा है और प्रीमियम भव्य होटल प्रमुख शहरों में उभर रहे हैं। जो सैलानी अपनी सुविधाओं और लक्जरी में समझौता नहीं करना चाहते उनके लिए ताज होटल्स रिसाॅर्ट्स और पैलेसेस, ओबेराय होटल और रिसाॅर्ट्स या पार्क होटल को चुनना समझदारी रहेगी।

इन समूहों की प्रमुख भारतीय शहरों जैसे बंगलौर, हैदराबाद, गोवा, चैन्नई, दिल्ली में होटल हैं। राजस्थान में कुछ महल हेरिटेज होटल में तब्दील कर दिए गए हैं जहां आप शाही आतिथ्य का आकर्षक स्वाद ले सकते हैं।

ये भी पढ़ें : भारत के 10 सबसे स्वादिष्ट मिठाइयाँ – पढ़ें

भारत में कई तरह के व्यंजनों की व्यवस्था :

भारत में कई तरह के व्यंजनों की बड़ी रेंज है और हर एक का अपना मसालों, तेल और जड़ी बूटियों का अनूठा मिश्रण है। आपको उनका स्वाद जहां एक ओर लुभाता है, वहीं कुछ विदेशी इन मसालेदार व्यंजनों का मुकाबला नहीं कर पाते। भारत के कई प्रमुख हिस्सों में चावल मुख्य भोजन है, वहीं उत्तरी राज्यों में कई तरह की रोटियां खाई जाती हैं। केरल और पश्चिम बंगाल में आप क्षेत्रीय मछली से बने हुए स्वादिष्ट व्यंजनों का स्वाद ले सकते हैं।

उत्तरी राज्य अपने चटपटे मजेदार अचारों और पशु मांस आधारित व्यंजनों के लिए मशहूर हैं। यहां आप कई प्रकार के मीठे व्यंजनों का भी स्वाद ले सकते हैं जो ज्यादातर पनीर या मसालों से बने होते हैं। हालांकि बेहतर होगा आप सड़क किनारे बेचे जाने वाले चटपटे खाने के लालच से बचें, चाहे वो कितने ही आकर्षक क्यों ना लगते हों।

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *