आज हम 21वीं सदी के आधुनिक युग में जी रहे हैं लेकिन भारत में अभी भी कई समाजों रूढ़िवादी मानसिकता कायम है और इसका असर समाज के प्रगतिशील लोगों के विकास पर भी पड़ रहा…