1857 से पहले ही अंग्रेजों ने अपनी फौज में गोरखा सैनिकों को रखना आरम्भ कर दिया था. 1857 के भारत के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में इन्होंने ब्रिटिश सेना का साथ दिया था क्योंकि उस समय वे…

मणिपुर के चंदेल में 4 जून को इंडियन आर्मी के 18 जवानों की शहादत का बदला सेना के एलीट कमांडोज ने ले लिया। बार्डर पार करके आर्मी के कमांडोज ने स्पेशल सर्जिकल ऑपरेशन को सफलतापूर्वक…

देश के हर क्षेत्र में नारी शक्ति को आगे लाने का प्रयास किया जा रहा है। कुछ सालों में सेना की गतिविधियों में भी नारी शक्ति ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है। जहाँ एक ओर…

Col K D Pathak (Retd) के अनुसार "एक फ़ौजी का रैंक कभी भी रिटायर नही होती, यह तो एक ऑफिसर होता है जो रिटायर होता है"| इस पर आगे बढ़ते हुए Lt Gen P N Hoon (Retd)…