होली 2018 : होली का त्यौहारोत्सव कब और क्यों मनाया जाता हैं और इतिहास, महत्व जाने

भारत में होली का त्यौहारोत्सव : भारत में होली का त्यौहारोत्सव सभी के जीवन मे बहुत सारी खुशियॉ और रंग भरता है, लोगों के जीवन को रंगीन बनाने के कारण इसे आमतौर पर ‘रंग महोत्सव’ कहा गया है। यह लोगो के बीच एकता और प्यार लाता है। इसे “प्यार का त्यौहार” भी कहा जाता है। यह…

Read More

14 जनवरी को सिर्फ 2 घंटे ही रहेगा मकर संक्रांति का मुहूर्त

मकर संक्रांति का पर्व बेहद खास : मकर संक्रांति माघ मास की संक्रांति को मनाई जाती है। मकर संक्रांति का पर्व हर साल आमतौर पर 14 जनवरी को पड़ती है। पंचांग के अनुसार इस बार मकर संक्रांति पर्व का शुभ मुहूर्त 14 और 15 जनवरी दोनों दिन हैं। दरअसल सूर्य का मकर राशि में गमन करना…

Read More

तुलसी विवाह: जानिए तुलसी और उसकी पूजा से जुड़ी महत्वपूर्ण और रोचक बातें

देवउठनी एकादशी को तुलसी विवाह उत्सव : कार्तिक शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवउठनी एकादशी कहते हैं।  इस साल 31 अक्टूबर को भगवान का शयनकाल खत्म होगा और इसके बाद ही कोई शुभ कार्य होगा। ये एकादशी दिवाली के 11 दिन बाद आती है।  इस दिन भगवान विष्णु चार महीने के बाद सो कर जागते…

Read More

बद्रीनाथ मंदिर , कभी भगवान शिव का निवास स्थान था…….

बदरीनाथ मंदिर

बद्रीनाथ मंदिर शहर में मुख्य आकर्षण है. पौराणिक कथा के अनुसार भगवान शंकर ने बद्रीनारायण की छवि एक काले पत्थर पर शालिग्राम के पत्थर के ऊपर अलकनंदा नदी में खोज की. वह मूल रूप से तप्त कुंड हॉट स्प्रिंग्स के पास एक गुफा में बना हुआ था. बदरीनाथ मंदिर , जो बदरी नारायण मंदिर नाम…

Read More

इन्होंने की मूर्खता फिर भगवान श्रीहरि को लेना पड़ा धरती पर अवतार

हिंदू पौराणिक कथाओं में उल्लेखित देव और देवियों से जुड़ी हर घटना किसी न किसी प्रयोजन से होती है। ऐसी ही एक घटना का उल्लेख विष्णु पुराण में मिलता है। भगवान विष्णु के धाम, बैकुंठ लोक में जय और विजय नाम के दो द्वारपाल थे। एक बार सनक, सनन्दन, सनातन और सनत्कुमार (ये चारों सनकादिक…

Read More