महान इंसान बनने के लिए पढ़ाई में लगाना होगा मन :

जिंदगी में अगर आप एक महान इंसान बनाना चाहते हो आपको मन लगा कर पढ़ना होगा ये आप अच्छी तरह से जानते है। यदि आपका मन पढ़ाई में नही लगता तो उस समय आपको क्या करना होगा। ये जानने के लिए आपको पूरी पोस्ट को ध्यान से पढ़ना होगा।

आज के जमाने में पढ़ने का मन किसी का नही करता और अगर किसी के दबाब में आकर आप पढ़ रहें हैं तो फिर इससे आपको ज़िन्दगी में कुछ मिलने वाला नही, आप अपने पेरेंट्स के दबाब में आकर पढ़ तो लोगे लेकिन आने वाले कल के लिए ये आपके लिए सबसे बड़ी समस्या बन सकती है। जब तक आपके मन में पढ़ने की इच्छा नही होगी, तब तक आपका पढ़ना बेकार है।

अच्छे और सच्चे मन से पढ़ाई करने के फायदे :

अगर आप किसी भी किताब को मन लगाकर पढ़ते हो तो एक बात तो साफ़ है कि किताब के जिस पन्ने पर किसी भी टॉपिक को आप पढ़ रहे हो, उसकी स्टोरी का पता चल रहा है और बात किसके ऊपर हो रही है, ये आपको अच्छे से समझ आएगा। जैसे आपने कई बार देखा होगा कि जब आप टेलीविजन के आगे बैठकर किसी फिल्म को देखते हो तो वो पूरी समझ आ जाती है।

ये भी पढ़ें : यदि आपको भी परीक्षा का तनाव कम करना है तो जानें क्या खाएं, कैसे बचें

फ़िल्म आपको इसलिये समझ आती है, क्यूंकि आप ध्यान केन्द्रित करके देखते हो तब आपको समझ आ जाता है। बस किताब को भी आपने पूरे ध्यान लगाकर पढ़ना है। फिर देखना कैसे आपका मन पढ़ाई में लगता है।

मन न लगाकर पढ़ने के नुक्सान :

अगर आप पढ़ते वक्त ध्यान से नही पढ़ते तो जो आपने याद किया वो आप अगले दिन भूल जाओगे अगर आप पढ़ते वक्त इधर-उधर देखोगे या ध्यान से नही पढोगे तो आपको पढ़ाई बोरिंग लगने लगेगी। आप जो पढ़ रहे हो उसे याद करने या समझने में टाइम बहुत लगेगा अगर ध्यान लगाकर पढ़ोगे तो आपको नींद नही आयेगी, दूसरी बात आपको बार-बार नही पढ़ना पढ़ेगा।

तो अब आप फायदे और नुक्सान दोनों के बार में जान चुके है। यदि आप चाहते हो की आपका कोई नुकसान भी नही हो और समय भी ज्यादा न लगे तो पढ़ाई को बोझ न समझकर इसे ध्यान से पढ़ें। आपका समय भी बचेगा और जल्दी समझ भी आ जाएगा।

पढ़ाई में मन लगाने के तरीके :

अब अपने पढ़ाई करते वक्त ध्यान लगाकर पढ़ने के फायदे और नुक्सान के बारे में जान लिया तो अब हम आते है मेन टॉपिक पर यानि कि पढ़ाई में मन कैसे लगायें। आपको कुछ नीचे टिप्स दिए जायेंगे उनको ध्यान से पढ़ते हुए इनके उपर यदि आप अमल करोगे तो यकीं मानिये आपकी रूचि पढ़ाई की तरफ शत प्रतिशत बढ़ने लगेगी।

टाइम टेबल बनाये पढ़ने के लिए :

यदि आप चाहते हो कि आप कक्षा में सबसे आगे रहें तो आपके लिए बहुत जरुरी है समय सारणी आपने देखा होगा जब आप स्कूल जाते हो वहां आपको जो टीचर पढ़ाने आता है तो उनका एक समय सारणी होता है जिसे हम टाइम टेबल भी कहते है उसी टाइम टेबल के अंदर टीचर आपको पढ़ाने के लिए आता है। उसी तरह आपको भी अपने अलग-अलग विषय के लिए टाइम टेबल बनाना जरुरी है।

याद रखें जब आप शुरुआत में इस समय सारणी का उपयोग कर रहें है तो आपको दिन में 1 या 2 घंटे पढ़ना है। धीरे-धीरे आप समय-अवधि को बढ़ा सकते है। बहुत से लोग शुरू में ही ये प्लान बना लेते है कि 4-5 घंटे पढ़ना है और फिर बहुत जल्दी बोर भी हो जाते है और जो पढ़ा वो भी भूल जाते है इसलिए आप ये गलती न करें ।

टाइम टेबल बनाकर पढ़ने के फायदे :

जब आप टाइम टेबल बनाकर पढेंगे तो आपको पता होगा की कब क्या पढना है, टाइम को मैनेज कैसे करना है। दूसरी बात एक जो बहुत ही जरुरी है यदि आपके साथ और भी आपके भाई-बहन या दोस्त पढ़ाई करते है और आपके नजदीक ही रहते है तो एक ग्रुप जरुर बनाये। इस से क्या होगा जो टॉपिक आपको अकेले में समझ नही आ रहा वो एक दुसरे के साथ डिस्कस कर सकते हो और किसी भी प्रोब्लम का समाधान जल्दी निकल जाता है। अकेले में समय बहुत लगता है। इसलिए ग्रुप स्टडी आपके लिए फ़ायदेमंद रहेगी।

group-studay

हमेशा नोट्स बना कर पढ़े :

जब भी आप पढ़ने बैठे तो याद रहे जो आप पढ़ रहे हो उसके साथ-साथ नोट्स जरुर बना लें व नोट्स बनाने से आपको जल्दी समझ आयेगा और भूलेगा भी नही। स्टडी नोट्स एग्जाम के टाइम बहुत मदद करता है और अगर आप बाद में कुछ भूल जाते है तो आप नोट्स से देख के आसानी से समझ सकते है और ये आपको पढाई में मन लगाकर पढ़ने में बहुत मदद करता है।

ये भी पढ़ें : एग्जाम टिप्स : स्टूडेंट्स पढ़ाई के बीच जरूर लें ब्रेक, सेहत के लिए है अच्छा !

पढ़ाई के लिए शांत जगह चुने :

यदि आप चाहते हो कि आपका मन इधर-उधर न भटके तो आपको एक शांत और साफ़ वातावरण वाली जगह का चुनाव करना चाहिए और रोज उसी जगह बैठकर पढाई करें। ऐसी जगह का चुनाव करें जिस जगह से आपका ध्यान यहाँ-वहाँ की बातें न सुने। बोलने का मतलब कि आपको कोई डिस्टर्ब न करे, जहां आप शांति से पढ़ सकें। अगर आप रोज अपने पढने की जगह बदलते रहते है तो इससे आपको पढने का मन नही करेगा और आपका पढाई से मन हटने लगेगा इसलिए आपको एक सही जगह चुनना जरुरी है।

पढ़ाई का सारा समान अपने साथ रखें :

जब भी आप पढ़ने बैठे तो अपना पढ़ाई का सारा समान एक साथ एक बार में ही अपने पास रख लें ताकि बार-बार उठाना न पड़े। आप बार-बार उठोगे तो ध्यान इधर-उधर भटक जायेगा। इसलिए ध्यान रखें जब भी पढ़ने बैठे तो अपना जरूरी समान जैसे :- किताब, कॉपी, पेन साथ रखें।

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *