योग दिवस को ले कर जहां भारत मे मे कुछ मुस्लिम संघटन विरोध कर रहे है| वही कट्टरपंथी मुस्लिम देश पाकिस्तान मे रहने वाले  शमशाद हैदर का कहना है कि जिस तरह से बाबा रामदेव भारत के हर घर मे योग ले कर गए है, वह भी पाकिस्तान के घर घर मे योग ले कर जाना चाहते है| उन की यह बात भारत के सेकुलर और कट्टरपंथी मुस्लिम लोगो को आईना दिखती है कि योग स्वस्थ के लिए जरूरी है इस का आप के धर्म पर कोई फर्क नही पड़ता|

शमशाद हैदर को पाकिस्तान और बाहर के देशो मे लोग योगी हैदर के नाम से भी जानते है|

45 साल के शमशाद अब तक हजारो लोगो को योग सीखा चुके है| पाकिस्तान मे ही उन के 10 हज़ार से ज्यादा स्टूडेंट है| वह कई राजनेतों और पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों को भी योग सीखा चुके है|

शमशाद अपने विषय मे बात करते हुए बताते है कि 1991-1992 मे उन का परिवार सऊदी अरब मे construction का बिज़नस करता था तभी उन को appendicitis pain की शिकायत हुई| सोमालिया के एक डॉक्टर ने उन से कहा कि अगर वह अपने दिमाग और शरीर पर नियंत्रण कर ले तो उन को दर्द से आराम मिल सकता है|  फिर उन्होने योग करना शुरू किया, जिस के 2 दिन बाद ही उन को आराम मिलने लगा|

फिर शमशाद ने योग के विषय मे पढ़ना शुरू कर दिया|  शमशाद 1996 मे नेपाल  योग सीखने गए और 1997 मे भारत आए| भारत मे  2004  तक उन्होने Vipasana Meditation गुरु S N Goenka जी से योग सीखा|

योग सीखते समय ही शमशाद अपनी पत्नी शुमाइला से मिले| जो अस्थमा से पीड़ित थी| शमशाद मे अपनी पत्नी को भी योग के माध्यम से ठीक किया|

 

शमशाद 2004 मे पाकिस्तान चले गए| वहाँ पर शमशाद और उन की पत्नी शुमाइला  मिल कर Yoga Pakistan नाम की संस्था चलाते है|

जहां पर शमशाद की पत्नी महिलाओं को योग सिखाती है|

आज पाकिस्तान मे शमशाद के शिष्यों मे Chief Minister of Sindh Province सय्यद कईम अली शाह और  Former governor of Punjab province  मालिक गुलाम मुस्तफा खार शामिल है|

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *