win bjp party

भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री हुए भावुक :

हिमाचल प्रदेश और गुजरात में हुए विधानसभा चुनाव में मिली जीत के बाद बुधवार को पहली बार भाजपा संसदीय दल की बैठक आयोजित हुई, जिसमें जीत का जिक्र कर प्रधानमंत्री भावुक हो गए।

उन्‍होंने सांसदों को संबोधित करते हुए अपने पुराने दिनों को याद किया और सभी से एकजुटता बनाए रखने का आह्वान किया। साथ ही उन्‍होंने बैठक में मौजूद बीजेपी नेताओं से सरकार की नीतियों को जनता तक पहुंचाने को कहा। उन्‍होंने विधानसभा चुनावों में जीत का श्रेय पार्टी कार्यकर्ताओं को दिया। और समस्त  देशवासियों का धन्यवाद किया।

emotional

भाजपा संसदीय दल की बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पार्टी के भीतर और बाहर युवाओं को प्रोत्साहित करने पर भी जोर दिया।

ये भी पढ़ें :क्या इन नतीजों से होगी प्रधानमंत्री की राह आसान 2019 में भी ….

पार्लियामेंट लाइब्रेरी बिल्डिंग में पहुंचे पार्टी के शीर्ष नेता :

प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा चुनाव जीत रही है लेकिन पार्टी से लोगों की अपेक्षाएं काफी अधिक है। हमें इन अपेक्षाओं को पूरा करना है और हर सांसद, कार्यकर्ता को पूरी लगन के साथ काम में जुट जाना हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यकर्ताओं के परिश्रम एवं पराक्रम की सराहना की। उन्होंने बताया कि पार्टी का मानना है कि नरेन्द्र मोदी देश के प्रधानमंत्री होने के साथ पार्टी के कार्यकर्ता भी हैं, ऐसे में वे जिस तरह से कार्यकर्ता के कर्तव्य का निर्वाह कर रहे हैं, उसे अन्य नेताओं को उदाहरण के रूप में लेना चाहिए। बैठक में हिस्सा लेने के लिए पार्लियामेंट लाइब्रेरी बिल्डिंग में प्रधानमंत्री मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत पार्टी के शीर्ष नेता पहुंचे।

ये भी पढ़ें :गुजरात विधानसभा चुनाव 2017: क्या गुजरात में फिर चलेगा मोदी का जादू?

पार्लियामेंट लाइब्रेरी बिल्डिंग में भाजपा अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री के पहुंचने पर सबसे पहले उन्हें लड्डू खिलाया। उधर, भाजपा संसदीय दल की बैठक के दौरान केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री कृष्णा राज की तबियत अचानक बिगड़ गई। जिसके बाद उन्हें राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बीजेपी पार्टी

भाजपा संसदीय दल की बैठक ऐसे वक्त पर हो रही है जब पार्टी ने हिमाचल और गुजरात में जीत दर्ज की है और संसद के शीतकालीन सत्र की शुरुआत हो गई है। संसद के शीतकालीन सत्र में कांग्रेस, भाजपा को घेरने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर आरोप लगाने वाली भाजपा से माफी मांगने पर अड़ी है।

गुजरात और हिमाचल में सीएम कौन ?

गुजरात में मौजूदा मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ही अगले मुख्यमंत्री होंगे इस पर सस्पेंस बना हुआ है। इसके अलावा सीएम के दावेदारों के रूप में जिन दो नामों की चर्चा हो रही है। उसमें पुरुषोत्तम रुपाला या मनसुख भाई मांडविया का नाम सामने आ रहा है। अभी इन जाने माने चेहरों के बीच सस्पेंस बना हुआ है।

हिमाचल में सीएम उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल और प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सत्ती के हारने के बाद मुख्यमंत्री पद पर अब किसे बिठाया जाए इस पर बीजेपी में मंथन चल रहा है। हालांकि सीएम की रेस में सबसे पहला नाम हिमाचल के बीजेपी नेता जयराम ठाकुर का है।

इनके अलावा सबसे ज्यादा जो नाम सुर्खियों में है वो स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा का है। बता दें कि प्रेम कुमार धूमल के बेटे अनुराग ठाकुर को मुख्यमंत्री बनाने की मांग पार्टी कार्यकर्ताओं की ओर से हो रही है।

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *