क्या नेताजी सुभाष चन्द्र बोस से रूस में मिले थे शास्त्री जी ?


1965 का युद्ध भारत के लिए यादगार रहा है जिसमे भारत ने पाकिस्तान को धुल चटाते हुए लाहौर तक कब्ज़ा कर लिया था लेकिन इस युद्ध के बाद भारत को ऐसा आघात लगा था जिससे उबरना बहुत कठिन हो गया था। वही स्वतंत्रता पूर्व नेताजी सुभाष चन्द्र की मौत ने सभी को दुःख से भर दिया था।

लेकिन अब एक ऐसा खुलासा हुआ है जिसके बाद से नेताजी के बारे में लग रहे कयास फिर से जिन्दा हो गए है। कुछ लोगों का कहना है की विमान हादसे में नेताजी की मौत नहीं हुई थी। वे काफी लम्बे समय तक जिन्दा थे। आगे हम आपको बताते है नेताजी के बारे में अब क्या हुआ है नया खुलासा,

शास्त्री जी के बेटे का खुलासा 

अपने एक इंटरव्यू में शास्त्रीजी के बेटे सुनील शास्त्री ने ये खुलासा किया है की उनके पिता जी का निधन होने से कुछ देर पहले उनके पिता लाल बहादुर शास्त्री जी का फ़ोन आया था की वह देश में एक बड़ा खुलासा करेंगे जिसमे वे एक बड़े व्यक्ति को सामने लेकर आयेंगे। सुनील शास्त्री के अनुसार ये व्यक्ति नेताजी ही थे जो बाद में शास्त्री जी की रहस्यमयी मौत के कारण पुन: भूमिगत हो गए थे।

ब्रेन मैपिंग में खुलासा

वही एक ब्रिटिश फोटो एक्सपर्ट ने एक फोटो को शेयर करके ये खुलासा किया है की शास्त्रीजी के साथ फोटो में दिख रहा ये व्यक्ति असल में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ही है। ये खुलासा उस ब्रेन मैपिंग के द्वारा किया गया है जिससे किसी व्यक्ति की फोटो से उसके चेहरे की पहचान की जाती है। इस खुलासे के बाद से देश भर में हडकंप मच गया है।

विजयलक्ष्मी पंडित जानती थी राज

 

जब 1948 में जवाहरलाल नेहरू की बहन विजयलक्ष्मी पंडित भारत आई थी तो उन्होंने मुंबई में घोषणा की थी की वे देशवासियों के लिए एक अच्छी खबर लायेंगी लेकिन नेहरु के दबाव के कारण वे कुछ बता नहीं पायी थी।


Related posts

Leave a Comment