संघ लोक सेवा आयोग की मुख्य परीक्षा में ब्लूटूथ उपकरण के साथ नकल :

आईपीएस के एक अधिकारी सफीर करीम को संघ लोक सेवा आयोग की मुख्य परीक्षा में ब्लूटूथ उपकरण के साथ नकल करने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है। आइएएस बनने की चाहत रखने वाला यह आइपीएस अधिकारी सफीर करीम ब्लूटूथ के जरिये नकल कर रहा था। आपको बता दें कि साल 2014 से आइपीएस सफीर करीम इन दिनों तमिलनाडु के तिरुनेवेली जिले के नागजुनेरी में सहायक पुलिस अधीक्षक (एएसपी) के पद पर तैनात है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सफीर आइएएस की परीक्षा के दौरान ब्लूटूथ के जरिये अपनी पत्नी से बातें कर रहा था।  उनकी पत्नी हैदराबाद से सवालों का जवाब बता रही थीं। पुलिस अधिकारी ने बताया कि सफीर के खिलाफ आइपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

यूपीएससी एग्जाम देने के लिए, कि कई कोशिशें :

सफीर करीम केरल में कोच्चि के रहने वाले हैं। एक बार आपको फिर बता दें कि वे इन दिनों तमिलनाडु कैडर के पुलिस विभाग में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। आईपीएस बनने से पहले सफीर करीम ने अपना बैचलर्स इंजीनियरिंग में की है।

यह भी पढ़ें :कभी रहने के लिए नहीं था घर आज गरीबों का मसीहा है ये आईएएस

तीसरी बार यूपीएससी एग्जाम देने पर उन्हें यह सफलता मिली थी। यानि करीम का यह अंतिम प्रयास था इसलिए उन्होंने इस तरह से परीक्षा में पास होने की कोशिश की।

IPC की धारा-420 के तहत मामला दर्ज :

आरोपी सफीर करीम की पत्नी को भी पुलिस ने अपनी हिरासत में ले लिया है। आरोप है कि सफीर करीम की पत्नी हैदराबाद से ब्लू-टूथ के जरिये अपने सफीर करीम (IPS) पति को नकल करा रही थी।

जानकारी के मुताबिक केरल निवासी सफीर करीम का वर्ष-2014 में IPS (भारतीय पुलिस सेवा) के लिये चयन हुआ था। पुलिस ने आरोपी सफीर करीम(IPS) अफसर के खिलाफ IPC की धारा-420 के तहत मामला दर्ज कर लिया है और पूछताछ में जुट गयी है।

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *