AADHAR CARD NO1

आधार कार्ड पंजीकरण में एक बड़ी गड़बड़ी सामने आई

उत्तराखंड के एक गांव में आधार कार्ड के पंजीकरण में एक बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। यहां पूरे गांव के सभी निवासियों की जन्मतिथि आधार कार्ड पर  1 जनवरी कर दी गई है। यह एक और त्रुटि है जो विशिष्ट पहचान प्रणाली के प्रभाव के बारे में चिंताएं बढ़ाती है। जबकि दूसरी ओर बैंक खातों से लेकर मोबाइल नंबर तक हर जगह आधार अनिवार्य होता जा रहा है।

ऐसा नहीं है कि इस तरह कि गलती पहली बार हुई है।  इलाहाबाद के Kanjasa गांव में भी ये स्थिति उत्पन्न हुई थी। इस गांव के लोगों ने जो आधार कार्ड बनवाए थे, उन सब में उनकी जन्मतिथि 1 जनवरी लिखी हुई थी।

लोगों की जन्मतिथि एक ही दर्ज

इस तरह लगभग एक हज़ार लोगों की जन्मतिथि एक ही दर्ज हो गयी थी। ये कोई संयोग नहीं, बल्कि तकनीकी गलती थी। लगभग पांच हज़ार की आबादी वाले इस गांव में 1000 लोगों के आधार कार्ड पर गलत जानकारी दे दी गयी थी।

यह भी पढ़ें :आखरी 24 घंटे बचे …इन्कमटैक्स डिपार्टमेंट का फ़रमान ! जल्दी करें…..

आधार कार्ड न होने पर लोगों को कई सरकारी स्कीमों का लाभ नहीं मिल पाता, जिसके कारण लोग आधार कार्ड बनवा रहे हैं।  इस गांव के लोगों कि जन्मतिथि तो एक लिखी ही गयी, इसके अलावा भी कई गलतियां देखी गयी हैं।

ग्रामीण अपने पास के कॉमन सर्विस सेंटर में जाकर जन्म तिथि का प्रमाण पत्र दिखाकर आधार कार्ड में जन्म तिथि ठीक करा सकते हैं। इसके अलावा नाम या पिता के नाम को भी ठीक कराया जा सकता है।

यह भी पढ़ें :ये है सरकार का प्‍लान: अब ड्राइविंग लाइसेंस को भी कराना होगा आधार कार्ड से लिंक

कुछ लोग आधार कार्ड पर गलत जन्म तिथि दर्ज कराकर अवैध रूप से वृद्धा पेंशन ले रहे हैं। इसका खुलासा पथरी और श्यामपुर में हो चुका है। जिलाधिकारी दीपक रावत को इसकी शिकायत मिली थी और उन्होंने 40 से अधिक लोगों की पेंशन को निरस्त किया था।

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *