उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा अवैध बूचड़खानों पर चाबुक चलाने के बाद भारतीय जनता पार्टी शासित पांच अन्य राज्यों में भी अवैध बूचड़खानों पड़ कड़ी कार्रवाई की गई है। यूपी की तरह कार्रवाई करने वाला पहला राज्य झारखण्ड है।
हरिद्वार में भी 3 मांस की दुकानों पर ताले जड़े गये, रायपुर में 11 दुकानें बंद की गईं और रायपुर में एक दुकान पर चाबुक चला।
उत्तरप्रदेश और झारखण्ड के बाद राजस्थान, उत्तराखण्ड, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश सरकारों ने अपने अपने राज्यों में अवैध बूचड़खानों पर सख्ती दिखाई।
टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर के अनुसार जयपुर में चार हज़ार अवैध बूचड़खानों को बंद कर दिया गया। जयपुर विकास प्राधिकरण ने एक अप्रैल से इन्हें बन्द करने की बात कही। हालंकि मांस बेचने वालों के अनुसार जे.एम.सी ने 31 मार्च 2016 से उनके लाइसेंस ही रिन्यू नहीं किए हैं। साथ ही यह भी कहा कि 4000 में से 950 दुकानें पहले से वैध हैं।
सोमवार को झारखण्ड सरकार ने 72 घण्टे के भीतर सारे अवैध बूचड़खाने बन्द करने की बात कही थी।
पांचों राज्यों में अवैध बूचड़खानों की शामत उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सख्ती से प्रेरित बताई जा रही है। शपथ के अगले ही दिन से उन्होंने अवैध बूचड़खानों पर सख्ती दिखाई थी।

 

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *