chakhaldara

चिखालदारा-  राजा विराट की नगरी:

महाराष्ट्र के अमरावती में बसा चिखालदारा हिल स्टेशन प्राकृतिक खूबसूरती से भरा हुआ है। यह स्थान कभी राजा विराट की नगरी हुआ करता था। जो विराट नगर के नाम से जाना जाता था।

चिखालदारा सतपुड़ा की पहाड़ी का एक खूबसूरत भाग है। जो चारों तरफ से प्राकृतिक खूबसूरती से भरा हुआ है। जहां आप झीलों, पहाड़ी हरियाली व प्राचीन दुर्गों की खूबसूरती का आनंद ले सकते हैं।

maharashtra

इस स्थान का नाम चिखालदारा कैसे पड़ा:

यह स्थान पौराणिक मान्यता भी रखता है। माना जाता है महाभारत के समय पांडवों ने अज्ञातवास के दौरान महाभारत के कीचक नाम के पात्र ने द्रौपदी से अनैतिक व्हवहार की कोशिश की थी।

यह भी पढ़ें : कैलाश मानसरोवर यात्रा 2018: आवेदक 23 मार्च तक करवा सकते हैं पंजीकरण !

इस पर गुस्साए भीम ने विराट रूप धारण कर उसे मारकर इसी खाई में फेंक दिया था। तभी से इस जगह का नाम चिखालदारा पड़ गया जो चिकल यानि किचक के समान अर्थ वाला और दारा यानि गहरी घाटी के नाम पर था।

आज भी ये खाई महाभारत काल में हुए उस घटना की गवाह है। यहां आने वाले पयर्टकों को महाभारत से जुड़ी रोचक जानकारियां भी यहां मिलती हैं।

भीमकुंड ,पंचबोल और देवी पॉइंट की खूबसूरती देखने लायक होती है:

भीमकुंड ,पंचबोल और देवी पॉइंट भी देख सकते हैं। पंचबोल पॉइंट अपने पहाड़ी दृश्यों के लिए जाना जाता है। जहां आप खूबसूरत कॉफी के बागान देख सकते हैं।

यह भी पढ़ें : हिमाचल के काँगड़ा जिले में राजा अकबर ने माँ ज्वाला से जब मानी हार …………..

इसके अलावा आप यहां की पांच पहाड़ियों को और गिरते जलप्रपात को भी देख सकते हैं। पास स्थित देवी कुंड अपनी सुंदर जल धाराओं के लिए जाना जाता है। जहां स्थानीय लोगों की देवी का एक मंदिर भी स्थित है। बारिश के मौसम में यहां की खूबसूरती देखने लायक होती है।

chikhaldara

प्राचीन हिन्दू राजाओं और मुगल सम्राटों का शासन:

पास स्थित प्राचीन गविलगढ़ फोर्ट के अद्भुत दुश्यों को देख सकते हैं। यह किला लगभग 300 साल पुराना बताया जाता है। जहां कभी हिन्दू राजाओं और मुगल सम्राटों का शासन रहा।

hill station

यह भी पढ़ें : जितनी ख़ुशी मुझे इस जगह घूम कर हुई उतनी आज तक कहीं नहीं…….

इस किले में प्राचीन खूबसूरत मूर्तियां मौजूद हैं, जो आज भी ठीक-ठाक अवस्था में हैं। आप यहां रखी गई तोपों को भी देख सकते हैं। इसके अलावा यहां की झीलें भी देखने लायक हैं।

पहुँचने के तीन मार्ग:

सबसे बेस्ट साधन बस है। चिखालदारा के लिए राज्‍य सरकार की ओर से कई बसें चलाई गई है जो सस्ती और सुविधाजनक है।

चिखालदारा में कोई रेलवे स्टेशन नहीं है शहर से 110 किमी. दूर स्थित बादनेरा रेलवे स्‍टेशन पर उतर कर बस या टैक्सी की मदद से चिखालदारा तक जाएं।

हवाई यात्रा करने वाले पर्यटक चिखालदारा पहुंचने के लिए अकोला एयरपोर्ट पर उतरें और वहां से टैक्सी हायर करके 150 किमी. का सफर तय कर चिखालदारा पहुंचे।

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *