घर की सजावट के साथ ये पौधें आपको देंगे प्रदुषणरहित शुद्ध हवा !


पौधे हमारे लिए बहुत जरुरी हैं यह तो लगभग हर कोई जानता ही हैं। वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा बनाए रखने वा घर में सकारात्मक उर्जा लाने के साथ ये पौधे घर की सुंदरता को तो बढ़ाते ही है साथ ही कई  मायनों में लाभकारी साबित हो सकते हैं।

घर के बाहर और भीतर दोनों स्थानों पर लगने वाले ये विशेष पौधे वातावरण में 24 घंटे प्राणवायु ऑक्सीजन का उत्सर्जन करते हैं। साथ ही विषैली गैसों को सोखने में काफी हद तक काबिल हैं।

शहरवासी नर्सरी से ऐसे प्रदूषण रोधक पौधों को खरीदकर घरों में सजा रहे हैं। ये पौधे घर के भीतर मौजूद विषैली गैसों के प्रभाव को कम करने में बेहद मददगार हैं।

ये हैं कुछ पौधे जिन्हें लगा कर आप शुद्ध हवा लेकर बीमारियों को खुद से दूर रख सकते हो:

जेमिया प्लांट:

यह  24 घंटे ऑक्सीजन देता है। दमे व सांस के मरीजों के लिए बेहद लाभकारी पौधा है। इसके आसपास रहने से ऑक्सीजन की कमी दूर होती है। पौधे की इस खूबी को स्वयं पूना लैब ने प्रमाणित किया है।

एलोवेरा:

पेट, त्वचा के विकारों के अलावा एलोवेरा वातावरण से पीएम 2.5 के स्तर को कम करता है। इस पौधे को घर में अंदर, बाहर कहीं भी रख सकते हैं। अधिक पानी की भी आवश्यकता नहीं होती। इसी तरह बैंबू व रबर प्लांट भी बेहद उपयोगी इनडोर प्लांट्स हैं।

यह भी पढ़ें: तुलसी विवाह: जानिए तुलसी और उसकी पूजा से जुड़ी महत्वपूर्ण और रोचक बातें

मनीप्लांट:

इनडोर और आउटडोर पौधा है। सजावट के अलावा भाग्यशाली पौधा है। जो समृद्धि का प्रतीक है। कम पानी में बहुत आसानी से बढ़ता है। ऑक्सीजन का उत्सर्जन करता है।

लेवेंडर:

वातावरण के साथ-साथ आपके मूड को भी सकारात्मक बनाए रखता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि लैवेंडर के पौधे को घर में रखने से छोटे बच्चे सुकून की नींद सो सकते हैं और इसकी अरोमा थेरेपी कर देती है नई मां को तनाव से कोसों दूर।

lavender

बोस्टन पाम:

आउटडोर पौधा है शोपीस की तरह इस पौधे का प्रयोग करता है। यह पौधा 100 मीटर तक जहरीली हवा को काटकर प्रदूषण दूर करता है। सजावट भी देता है। ठंडी के दिनों में जरूरी नमी को बनाने में कारगर है।

तुलसी:

भारतीय वेदों में पुरातन काल से तुलसी का महत्व है। शारीरिक विकारों, कफ आदि को दूर करने के अलावा तुलसी वातावरण को शुद्ध करती है। तुलसी एंटीबैक्टीरियल क्षमता वाला पौधा है। यह विनाशकारी उर्जा को भी घर से दूर रखता है ।

यह भी पढ़ें: अमर बेल से बालों का इलाज

स्पाइडर प्लांट:

घर के अंदर लगने वाला यह पौधा दो दिनों में घर के भीतर वातावरण में एलर्जी फैलाने वाले तत्वों कोे 90 फीसद तक दूर करता है। पौधा विशेष रखरखाव नहीं मांगता। वातावरण से बेंजीन, फार्मोल्डिहाइड व कार्बन डाई ऑक्साइड को सोखकर ऑक्सीजन देता है।

बैंबू प्लांट:

इस पौधे को पर्याप्त सूरज की रोशनी की भी जरूरत नहीं होती और यह घर के अंदरूनी भागों जैसे कमरों आदि में रखे जाने पर भी आसानी से विकसित होता है।

हवा को शुद्ध करने साथ ही यह घर में सौभाग्य भी लाता है। यह वातावरण को रोगाणु मुक्त भी रखता है। कम पानी में भी आसानी से लग जाने वाला यह पौधा नजदीकी पौधों के दुकानों में आसानी से मिल जाता है।


Related posts

Leave a Comment