काशी हिंदू विश्वविद्यालय ने अपने स्वर्णिम सौ साल पूरे किये


 

100 वर्ष पूरे होने का जश्न मनाने के लिए, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) 8 फरवरी से सप्ताह भर एक संगीत कॉन्सर्ट और एक स्पोर्ट्स पर्व के कार्यक्रम का आयोजन किया गया है,जिसमे कर्मचारी , गैर शिक्षण और शिक्षण स्टाफ और विश्वविद्यालय के संकाय सदस्य भाग लेंगे।

20430.bhu1

 

काशी हिंदू विश्वविद्यालय ने आज अपने स्वर्णिम सौ साल पूरे कर लिए। लंबे और मुश्किलों भरे इस सफर में कई पड़ाव आए लेकिन इसकी चमक हर रोज और गाढ़ी होती गई।आज बीएचयू अपने ऐतिहासिक गौरव पर नाज कर रहा है तो इसके पीछे दस दशक का संघर्ष साफ झलक रहा है।

शनिवार को विश्वविद्यालय का स्थापना दिवस मनाया जाएगा और इसकी खुशी एक दिन पहले से ही परिसर के कोने-कोने से नजर आने लगी।स्थापना दिवस पर शनिवार को सरस्वती पूजन के बाद झांकियों की शोभायात्रा निकाली जाएगी। झांकियों की भव्यता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जिन मार्गों से शोभायात्रा गुजरनी है, एक दिन पहले ही उन्हें फूलों और झंडियों से सजाया गया।

देश ही नहीं बल्कि एशिया के ख्यातिलब्ध बीएचयू के इस गौरवमयी दिन के साक्षी बनने को लेकर सभी आह्लादित हैं। कुलपति प्रो. जीसी त्रिपाठी ने शुक्रवार को स्थापना दिवस पर निकाली जाने वाली झांकियों की तैयारी का जायजा लिया।महिला महाविद्यालय, विधि संकाय और दृश्य कला संकाय में जाकर उन्होंने झांकियां देखी जिसे छात्र-छात्राएं अंतिम रूप देने में लगे हुए थे। उन्होंने उन मार्गों का भी जायजा लिया जिधर से ये शोभायात्रा गुजरनी है।मालवीय भवन के ठीक सामने बड़ा स्टेज बनाया जा रहा है, जहां सांस्कृतिक कार्यक्रम होना है। कुलपति ने स्वतंत्रता भवन की भी तैयारियों का जायजा लिया, जहां मानव संसाधन विकास मंत्री को आना था।


Related posts

Leave a Comment