कहा फिर किया ऐसा तो रद्द कर देंगे AAP की मान्यता !!

अपनी अजीबो गरीब हरकतों से हमेशा सुर्ख़ियों में रहने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री, अरविन्द केजरीवाल को भला कौन नहीं जानता, आपको बता दें हाल ही में उन्होने गोवा में एक चुनावी रैली में लोगों से अपील की थी, कि वो भाजपा और कांग्रेस से वोट डालने के लिए नए नोट के रूप में 5000 -10,000 रिश्वत लें मगर वोट आम आदमी पार्टी को ही डालें.

जिस पर चुनाव आयोग ने उनको कड़ी फटकार लगाई नोटिस जारी किया. चुनाव आयोग ने कहा की आगे से चुनाव प्रचार के दौरान वह अपने भाषणों में भाषा पर संयम रखें . और इस बात का भी विशेष ध्यान रखें की अगर भविष्य में चुनाव अचार संहिता का उलंग्गन होता है तो आयोग इलेक्शन सिम्बलस ऑर्डर एक्ट के तहत उनके और उनकी पार्टी के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करेगा.

मगर इस मुद्दे पर माफ़ी मांगे की बजाय बेशर्मी की सारी हदों को पार करते हुए स्वयंभू दुनिया के एक मात्र इमानदार और बुद्धिजीवी केजरीवाल ने चुनाव आयोग को ख़त लिखकर स्वयं को चुनाव आयोग का ब्रांड अम्बेसडर बनाने की सलाह तक दे डाली . और उन्होंने चुनाव आयोग के फैसले को गलत ठहराया तथा एक ट्वीट करते हुए लिखा, “ मेरे खिलाफ चुनाव आयोग का फैसला पूरी तरह गलत है, निचली आदालत ने मेरे पक्ष में फैसला सुनाया था. चुनाव आयोग ने अदालत के फैसले पर ध्यान नहीं दिया. मैं चुनाव आयोग के इस फैसले को अदालत में चुनौती दूंगा .

यहाँ सबसे महतवपूर्ण बात यह है की कैमरे के सामने हमेशा एक्स्ट्रा लार्ज साईज फटी कमीज, पैरों में सेंडल सर पर आम आदमी की टोपी पहने केजरीवाल आखिर तब तक जनता को अपनी खोखली झूठी बातों की टोपी पहनाते रहेंगे? दिल्ली की जनता अरविन्द केजरीवाल के लोक लुभावने बादों के लालच का परिणाम भुगत रही है. अब गोवा, पंजाब, यूपी, उतराखंड हिमाचल के लोगों के सचेत रहने की बारी है .

 

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *