दालचीनी का हम मसालों के रूप में हर दिन उपयोग करते हैं। स्वादिष्ट और सुगन्धित दालचीनी को मसालों की रानी भी कहा जाता है। दालचीनी आसानी से उपलब्ध एवं औषधीय गुणों से भरपूर एक मसाला है जो सामान्यतः सभी रसोइयों में उपलब्ध होता है। यह केवल मसाले के रूप में हीं उपयोगी नहीं है, बल्कि यह पाचन, वातहर, स्तंभण, गर्भाशय उत्तेजक, गर्भाशय संकोचक एवं शरीर उत्तेजक है। यह आपकी हर बीमारी का इलाज करने में सक्षम है। और जब दालचीनी के साथ शहद का भी मेल हो जाए, फिर तो यह समझो सोने पर सुहागे वाली बात हो गयी। दालचीनी में विटामिन्स  (विटामिन .ए), कैल्शियम आयरन,विटामिन बी 6, मैग्नीशियम, फाइबर पाया जाता हैं। दालचीनी मे एंटी फंगल ,एंटी बैक्टीरियल ,एंटी ओक्सिडेंट ,एंटी इन्फ्लेमेट्री  तत्व पाए जाते हैं।

अगर आप अभी तक दालचीनी के फायदे से अनजान है तो आइये जानते है दालचीनी के 10 अदभुत स्वास्थ्य लाभ –

1. कैंसर-

दालचीनी का उपयोग कैंसर जैसी बीमारी को नियंत्रण करने में सक्षम है। वैज्ञानिकों ने अमाशय के कैंसर और हड्डी के बढ़ जाने की स्थिति में दालचीनी और शहद को लाभदायक बताया है। एक माह तक गरम पानी में दालचीनी के पाउडर में शहद मिलाकर सेवन करने से बहुत लाभ होता है। इसके इस्तेमाल से ये रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। दालचीनी का तेल कैंसर में होने वाले प्रभाव को कम करता हैं। दालचीनी का उपयोग ट्यूमर, गैस्ट्रिक कैंसर की रोकथाम के लिए किया जाता हैं।

cancer

2. वजन कम करने में मदद-

दालचीनी का सेवन वजन कम करने के लिए एक अच्छा उपाय हैं। दालचीनी में भरपूर मात्रा में आयरन, कैल्शियम, और विटामिन्स पाए जाते हैं। यह वजन कम करने में सहायक सिद्ध हो सकता हैं। इसका प्रतिदिन सेवन करने पर फायदा होता हैं। इसके लिए आपको १ गिलास पानी में थोड़ी सी चायपत्ती, शहद और दालचीनी पाउडर लेकर इन्हे चाय की तरह बना कर रोज सुबह और रात में सोने से पहले लगातार सेवन करने से आपके शरीर की चर्बी नहीं बनेगी, और आपका वजन कम होता जायेगा।
एक चम्मच दालचीनी पाउडर को एक गिलास जल में उबालकर आंच से उतार लें। इसके बाद उसमें दो बड़े चम्मच शहद मिलाकर सुबह नाश्ता करने से आधा घंटा पहले पिएं। रात को सोने से पहले भी इसका सेवन करना दुगुना फायदेमंद साबित होता है। इससे अतिरिक्त चर्वी धीरे धीरे समाप्त हो जाती है।

weight loss

3. हृदय रोग-

हृदय को स्वस्थ बनाए रखने और हृदय रोगों पर नियंत्रण रखने में दालचीनी का सेवन बहुत लाभदायक है, दालचीनी हृदय की धमनियों में कोलेस्ट्रॉल को जमने से रोकती है। गर्म पानी के साथ दालचीनी और शहद का सेवन ह्रदय रोगों के लिए लाभकारी है। दालचीनी और शहद के मिश्रण को रोटी के साथ भी खा सकते हैं। इसके अलावा दालचीनी को चाय में डालकर भी ले सकते हैं। इसके नियमित सेवन से हार्ट अटैक की संभावना काम हो जाती है।

heart disease

4. दांतों एवं मसूड़ों के लिए-

दालचीनी दांतों एवं मसूड़ों के लिए भी फायदेमंद हैं। अगर आपके मुंह से दुर्गन्ध आती हो तो आप दालचीनी के एक छोटे से टुकड़े को मुह में रखकर धीरे धीरे चबाये इससे मुह की दुर्गन्ध तो जाएगी ही साथ ही दांत के दर्द में भी काफी आराम मिलता हैं। दालचीनी पाउडर और शहद दोनों बराबर मात्रा में मिला कर दांतों और मसूड़ों में धीरे धीरे मालिश करे। इससे दांत व् मसूड़ों के दर्द में आराम मिलता है।

teeth pain

5. जोड़ों में दर्द-

जोड़ों में दर्द होने पर दालचीनी का प्रयोग आपको राहत देता है। इसके लिए प्रतिदिन दालचीनी का गर्म पानी में सेवन तो लाभप्रद है ही, इसके अलावा इसके हल्के गर्म पानी से दर्द वाले स्थान पर मालिश करने से भी जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।
इसके पानी को पीने से एक सप्ताह में संधिवात के दर्द से निजात मिलती है और एक महीने तक इसका सेवन करने से चलने फिरने में असमर्थ लोग भी चलने में सक्षम हो जाते हैं। आर्थाइटिस के दर्द में भी दालचीनी काफी फायदेमंद साबित होती है।

joint pain

6. कान दर्द में भी लाभदायक-

अगर किसी व्यक्ति के कान में तेज दर्द हो रहा हो या फिर सुनने में दिक्कत आ रही हो तो दालचीनी के तेल की कुछ बुँदे कान में डालने से बहुत लाभ होता हैं। दालचीनी के प्रयोग से सुनने की शक्ति बढ़ती हैं। अस्थमा और लकवा लगने पर भी यह बेहद फायदेमंद होता है।

ear pain

 

7. सर्दी- खांसी में लाभदायक –

सर्दी, खांसी या गले की तकलीफों में दालचीनी असरकार‍क दवा के रूप में काम करती है। इसे पीसकर एक चम्मच शहद के साथ एक चुटकी मात्रा में खाने से जुकाम में लाभ मिलता है। आप गर्म या गुनगुने पानी में दालचीनी के पाउडर को शहद के साथ मिलाकर पी सकते हैं। दालचीनी के पाउडर को पिसी हुई काली मिर्च के साथ सेवन करने से काफी आराम मिलता है।

cold cough relief

8. सौन्दर्य – त्वचा एवं बालों के लिए-

दालचीनी के नियमित सेवन से त्वचा से संबंधित समस्याओं में काफी लाभ होता है। दालचीनी त्वचा को निखारने के साथ ही झुर्रियों को भी कम करती है। दालचीनी पाउडर को नीबू के रस में मिलाकर लगाने से मुंहासे व ब्लैकहैड्स दूर होते हैं। एक नीबू के रस में दो बड़े चम्मच जैतून का तेल, एक कप चीनी, आधा कप दूध, दो चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर पांच मिनट के लिए शरीर पर लगाएं। इसके बाद नहा लें, त्वचा खिल उठेगी।

यह भी पढ़ें: औषधीय गुणों से भरपूर है आंवला

शहद और दालचीनी के पेस्ट को रात को सोते वक्त चेहरे पर लगाएं और सुबह गरम जल से धो लें, इससे चेहरा कांतिमय हो जाता है। गंजेपन या बालों के गिरने की समस्या के लिए गरम जैतून के तेल में एक चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी पाउडर का पेस्ट बनाकर इसे सिर में 15 मिनट लगाकर धोएं इससे बालों से संबंधित समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

cinnamon and honey health benefit

9. पेट के रोगों के लिए-

पेट के रोग जैसे अपच, गैस बनना, पेट दर्द और एसिडिटी जैसी समस्यों में भी दालचीनी के पाउडर का सेवन करने से आराम मिलता है। इससे उल्टी-दस्त की समस्या में भी लाभ होता है, और भोजन का पाचन तंत्र भी बेहतर होता है। शहद और दालचीनी के पाउडर का मिश्रण लेने से पेट का अल्सर जड़ से ठीक हो जाता है।

stomach pain

10. सिर दर्द में लाभप्रद-

सर्दी के कारण होने वाले सिरदर्द में दालचीनी का लेप करना फायदेमंद होता है। गर्मी के कारण होने वाले सिरदर्द में दालचीनी और तेजपत्ते को मिश्री के साथ चावल के पानी में पीसकर सूंघने से सिरदर्द दूर हो जाता है। इसके अलावा दालचीनी के तेल की कुछ बूंदे तिल के तेल में मिलाकर सर पर मालिश करने से भी सिरदर्द ठीक हो जाती है। नियमित रूप से दालचीनी का शहद के साथ सेवन करने से तनाव से राहत मिलती है, साथ ही स्मरणशक्ति भी बढ़ती है।

headache relief

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *