knee pain

आज कल हमारे खान पान की बजह से और दिन भर की मेहनत करते रहने से कई बार हमारी सेहत पर काफी असर पड़ता है पर खेर छोडो  यह सब आज आपको बहुत ही आसान और गुणकारी औषधियो के बारे में बताते है  आजकल हर उम्र के लोगों को ही किसी न किसी दर्द से जूझता देखा जाता है।

इसके पीछे का एक बड़ा कारण आजकल का गल्त खान-पान है और व्यायाम की कमी भी। डाइट सही न ले पाने से लोगों में कैल्शियम की कमी हो जाती है और यूरिक एसिड बढ़ जाता है। जिससे गठिया का रोग या फिर किसी पुरानी घुटने की चोट का दर्द शुरू हो जाता है।

लेकिन आज हम आपको एक एेसा नुस्खा बताएंगे जिससे पुराने से पुराना दर्द भी खत्म हो जाता है। बहुत सारे लोगों को जोड़ों और घुटनों के दर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है | बढती उम्र के साथ ये समस्या और भी गंभीर हो जाती है।

विटामिन E जोड़ों के दर्द के लिए बहुत फायदेमंद होता है. खासतौर पर बादाम में पाया जाने वाला ओमेगा 3 फैटी एसिड सूजन और गठिया के लक्षणों को कम करने में मददगार होता है. बादाम के अलावा मछली और मूंगफली में भी पर्याप्त मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है।

उपर दिए गये चित्र में हम आपको बताएँगे की इन सबका प्रयोग करके आप सिर्फ चलना ही नही दोडेंगे भी , सबसे पहले आप एक चम्मच दालचीनी पाउडर और दो चम्मच शहद दिन में २ बार १ गिलास गुनगुने पानी के साथ पिए।

जिन लोगो को घुटनों में ज्यदा दर्द के कारण चलने फिरने में मुशिकल होती है उन्हें 30 दिनों के प्रयोग में ही आपको फर्क नज़र आयेगा की आप पहले से better है।

आपको यह परहेज करना है और कुछ इस तरह का आहार लेना है।

लेने योग्य आहार 

  1. घुटने के दर्द हेतु लिए जाने वाले आहार में आर्गेनिक फल, जंगली मछली, आर्गेनिक मेवे और गिरियाँ, नारियल का तेल, एक्स्ट्रा वर्जिन आयल, और ओमेगा-3 अंडे।
  2. पालक में ढेर सारे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो आपको ओस्टियोआर्थराइटिस और घुटनों के दर्द से दूर रखता है।
  3. मसाले जैसे दालचीनी, धनिये के बीज और हल्दी में शक्तिशाली सूजन-रोधी गुण होते हैं। अदरक अन्य प्रभावी मसाला है जो घुटने के दर्द को घटाता है।
  4. घुटने के दर्द में खासकर दो विटामिन, विटामिन डी और विटामिन सी, सहायक होते हैं।
  5. विटामिन सी से समृद्ध आहार जैसे संतरे, शिमला मिर्च, ग्रेपफ्रूट, स्ट्रॉबेरी एंड ब्रोकोली।
  6. विटामिन डी सीधे सूर्य के प्रकाश से और विटामिन डी से समृद्ध आहारों जैसे वसायुक्त मछली, विटामिन डी की शक्ति से समृद्ध दूध, दही, संतरे का रस और दलिया।
  7. बादाम, सूरजमुखी का तेल और बीज, सफ्लोवर तेल, हेज़लनट्स, मूंगफली और पालक विटामिन ई के स्रोत हैं। विटामिन ई अपने शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुणों के लिए जाना जाता है।

इनसे परहेज करें

  1. पशुजन्य वसा और प्रोटीन।
  2. सब्जियाँ जैसे आलू, शिमला मिर्च, बैंगन लाल और हरी मिर्च।
  3. आपके भोजन में उपस्थित सोडियम और नमक सूजन को और पानी के धारण होने की मात्रा को बढ़ाता है, जिससे घुटनों पर दबाव बढ़ता है और दर्द होने लगता है।

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *